26.9.08

ऊँची हील सेंडिल रेस : हाई हील सेंडिल पहिनकर दौडी

जीवन में मैंने बचपन से लेकर अभी तक तरह की दौड़ (रेस) देखी है कभी रिले रेस तो कभी कुर्सी दौड़ तो कभी मैराथन दौड़ . तीज त्यौहार पास आते इस शहर में कई तरह के रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम और प्रतियोगिता आयोजित की जाती है . समय बदलने के साथ साथ अब कई तरह की दौड़ (रेस) आयोजित की जाती है . विगत दिवस जबलपुर में महिला क्लब द्वारा सेंडिल दौड़ ( रेस) का आयोजन किया गया . महिलाओ की यह अभिनव प्रतियोगिता बस देखते ही बनती थी . यह प्रतियोगिता कामकाजी और घरेलू महिलाओ के बीच आपसी तालमेल स्थापित करने के ध्येय आयोजित की गई थी . सबसे पहले सेक रेस आयोजित की गई जिसमे रस्सियो से बने बोरे (फ़ट्टे) पहिनकर दौड़ लगे इस प्रतियोगिता में विभिन्न आयु वर्ग की महिलाओ ने उत्साह के साथ भाग लिया और सेंडिल पहिनकर दौड़ लगाई . सेंडिल रेस को तीन भागो में बांटा गया था -




चार इंच ऊँची हील सेंडिल रेस , तीन इंच ऊँची हील सेंडिल रेस और फ्लेट हील सेंडिल रेस
चार इंच ऊँची सेंडिल रेस में २० वर्ष से ४० वर्ष की महिलाओ ने भाग लिया . तीन इंच ऊँची हील सेंडिल रेस में ४० से ६० वर्ष की महिलाओ ने और फ्लेट हील सेंडिल रेस में ६० वर्ष से अधिक आयु की महिलाओ ने भाग लिया .

चलिए अब देखे महिलाओ की सेंडिल हाई हील रेस .















इस प्रतियोगिता को देखकर मेरे मन में एक विचार आया है कि क्यो न महिला ब्लॉगर की हाई हील सेंडिल रेस जबलपुर में आयोजित कराई जावे यहाँ महिलाओं की हाई हील सेंडिल रेस के लिए अनुकूल वातावरण मौजूद है . बेहतर ट्रेक भी मौजूद है जो आपको इन फोटो को देखकर महसूस हो सकता है . साथ महिला ब्लॉगर हाई हील सेंडिल रेस के बारे में यह शंका है कि यह प्रतियोगिता फ्लाप हो जावेगी क्योकि महिला ब्लागरो को ब्लागिंग से फुरसत कहाँ मिलती है .

9 टिप्‍पणियां:

Anil Pusadkar ने कहा…

अच्छा विचार है। हम भी आ जायेंगे,सालों से नही गये हैं जबलपुर

आलोक सिंह "साहिल" ने कहा…

बिल्कुल अलग तरह का मजेदार लेख.हमें भी इच्छा होने लगी है जी.
आलोक सिंह "साहिल"

Advocate Rashmi saurana ने कहा…

इस रेस के बारे मे तो पहली बार सुन रही हु. बहुत अच्छी जानकारी.

Lovely kumari ने कहा…

लोग-बाग क्या-क्या फितूर पाल लेते हैं :-)

mamta ने कहा…

ऐसी रेस (हाई हील )के बारे मे तो पहले कभी नही सुना था ।
पर शायद कुछ नया और अनोखा करने के इरादे से ये रेस रक्खी गई होगी । :)

राज भाटिय़ा ने कहा…

आप का टाईटल देख कर मे समझा कोई ओरत घर से भाग गई हाई हील सेंडिल पहिनकर , फ़िर ध्यान से पढा तो पुरी बात समझ मे आई :)
**हाई हील सेंडिल पहिनकर दौडी**अच्छी खबर हे
धन्यवाद

Zakir Ali 'Rajneesh' ने कहा…

बहुत खूब। आप भी खोज खोज कर लाते हैं सामग्री। वैसे आपने एक बात नहीं बताई कि क्या कोई इस रेस में उंची हील का शिकार भी हुआ?

निरन्तर - महेंद्र मिश्रा ने कहा…

भाई जाकिर जी
कार्यक्रम बिना किसी घटना के अच्छे से साआनंद सम्पान हुआ . विजेता उपविजेता है हील सेंडिल दौड़ विजेता उपविजेता महिला को महिला क्लब द्वारा सम्मानित और पुरस्कृत किया गया और दौड़ में कोई शिकार नही हुआ .

Arvind Mishra ने कहा…

वाह ! शाबाश !!