3.9.08

ॐ गं गणपतये नमः : आज रिद्धि सिद्धि का शुभसंयोग

आज गणेश चतुर्थी और बुधवार का शुभ संयोग है . सुख सम्रद्धि शान्ति और वैभव प्राप्ति का शुभ दिन है यह महादिन सन २०१२ में आवेगा . देश के कोने कोने में आज गणपति बब्बा विराजित होने का क्रम लगातार प्रारम्भ हो गया है . गणेश जी के बारे में यह कहा जाता है कि श्री गणेश का स्मरण का कही भी आड़ी तिरछी रेखा खींच दे तो उनका चित्र आकार लेने लगता है . किसी भी कोण से गणेश महाराज पर यदि द्रष्टिपात करे तो मनभावन और अति सुंदर दिखते है इसीलिए उन्हें सौन्दर्य का देवता भी कहा जाता है और मंगलमूर्ति तो उन्हें कहा ही जाता है .

मुझे बचपन से न जाने क्यो सूढ़ वाले गजानन बब्बा से अत्यधिक लगाव था . मेरे घर में श्री गणेश जी की स्थापना नही की जाती थी पर गणेश पर्व के शुभावसर पर स्कूल से लौटते समय मै श्री गणेश की मूर्ती बाजार से खरीदकर ले आया और अपने मम्मी-पापा को वगैर बताये उनकी अनुपस्थिति में घर में श्री गणेश की मूर्ती स्थापित कर दी . जब मै अपने घर में श्री गणेश जी की आरती कर रहा था उसी दौरान मेरे मम्मी पापा घर वापिस आ गए और उन्होंने मुझे गणपति जी के सामने आरती करते देखा तो बड़े प्रसन्न हुए तब से मेरे घर में श्री गणेश "दुःखहर्ता सुखकर्ता गजानन जी मूर्ती की स्थापना मेरे घर में प्रतिवर्ष की जाने लगी है और अब श्री गणेश की मूर्ती की स्थापना प्रतिवर्ष घर में मेरा बालक कर रहा है तो मेरी खुशी का ठिकाना नही रहता कि अब श्री गणपति जी कि मूर्ती स्थापित करने के कार्य को मेरा बेटा अंजाम दे रहा है .



श्री गणेश पर्व के शुभावसर पर श्री गणेश जी की आरती प्रस्तुत कर रहा हूँ .



बिहार में आई भीषण बाढ़ - आप भी दुःखहर्ता बनने का संकल्प ले



धरती कांपती है , बिजली गिरती है तो कही तूफ़ान उठते है और आकाश गरजते है पर कुदरत की बड़ी बड़ी आपदाओ के सामने मानव ने कभी भी हार स्वीकार नही की है . आपदा विपदा के समय एक जुट होकर सभी सच्चे मन से एक दूसरे की सहायता करते है . इस समय देश में बिहार भीषण बाढ़ के प्रकोप का शिकार है और करीब ३१ लाख व्यक्ति इस भीषण बाढ़ से हलाकान है लोगो को अपनी जमीन खेती किसानी संपत्ति से हाथ धोना पड़ा है आज उनके सामने खाने पीने का संकट है और रहने को छाया नही है . मानवता और इंसानियत का तकाजा है कि बिहार वासियो की सभी राजनीति से ऊपर उठकर पुरजोर मदद करे जैसे कि हमारे देश की परम्परा है .आज गणेश चतुर्थी का पावन शुभदिन है और हम भी जरुरतमंदों की मदद करने का संकल्प ले और दुःखहर्ता बनने का संकल्प ले और बाढ़ पीडितो की चढ़ बढ़कर मदद करे . श्री गणेश आपके संकल्प को अवश्य मजबूती प्रदान करेंगे.

ॐ श्री गणेशाय नमः

सभी ब्लॉगर भाई-बहिनों को गणेश चतुर्थी पर्व के अवसर पर ढेरो शुभकामना आपका आने वाला समय सुख शान्ति और सम्रद्धि से परिपूर्ण हो .

ॐ श्री गणेशाय नमः

11 टिप्‍पणियां:

नीरज गोस्वामी ने कहा…

गणपति बाप्पा मोरया....गणेश चतुर्तिथि की शुभकामनाएं..
नीरज

manvinder bhimber ने कहा…

jai ho shidhi vinayak
ganpati chaappa moriy

महामंत्री-तस्लीम ने कहा…

आपको भी गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनाएँ।

Parul ने कहा…

budhvaar to yun bhi GANESH ji ka DIN hai....aur us per is tithii ka padna...bahut sundar yog hai....aapko bhi shubhkaamnayen....jo asahay hain ..ganpati unhey apni chhatrchaya me rakhen...

परमजीत बाली ने कहा…

गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनाएँ।

seema gupta ने कहा…

आपको भी गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनाएँ।
Regards

उमेश कुमार ने कहा…

आप भी जरा गौर करें।
एक पत्र अनिलपुसदकर जी के नाम
अनिल जी आप जब लिख रहे है तो कम से कम समझदारी भरा कुछ लिखे जिससे लोगो को बैचारिक स्तर पर आपको समझा जा सके की आप पत्रकार है।आप के दोनो बिचार किसी स्तर के नही है।आपके ब्लाग मे जितनी भी टिप्पणी आई है वे सब के सब तोगडिया जी के समर्थन मे है। बहुमत आपके खिलाफ़ है।आपने अपनी सफ़ाई मे लिखा है लोगो ने पूरा पढे बिना टिप्पणी कर दी है लेकिन मेरा मानना है की आप स्वयं अपना लिखा फ़िर से पढें जिससे आपको सोचने को मजबूर होना पढे।मनावता के लिय भी लोग बात करे तो आप जैसे उन्हे "खिसका" कह देते है।
दूसरा लेख भी आपका स्तरीय नही है जहां पर आपने पत्रकारो को नेताओ से ज्यादा चाटुकार बता रहे है। आप पूरे हिन्दुस्तान को देखे की आज पत्रकारो की भूमिका पर चर्चा की जा रही है।जनता पत्रकारो को सन्देह की दृष्टि से देख रही है।आखिर इसका जिम्मेदार कौन है।आप जैसे लोग या वो सेठ जो हर धन्धे के साथ -साथ अखबार के मालिक है।आज कौन पत्रकार है जो करोडपति है लेकिन आपका मालिक जरूर करोडपति है आप गर्व करते है की आप उनके नौकर है बहस मे यह बात सामने आरही है की अब मीडिया की भूमिका बदल गई है अब कोई मिशन नही है बाजारवाद हावी है।जब सभी बाजरवाद के चपेट मे है तब पत्रकार कैसे अछूते रह जाएगें।हर पत्रकार द्सरे पत्रकार को दोयम दर्जे का समझता है। जिसे मौका मिला वह सत्ता की दलाली करने से नही चूका ,मेरा मानना है की अगर आप पापी नही हो तभी दूसरे पर पत्थर उछालने का अधिकार रखते है।

शोभा ने कहा…

गणपति जी सदा सबको तीक्ष्ण बुद्धि प्रदान करें। सस्नेह

Arvind Mishra ने कहा…

आप सभी को भी गणेश /विनायक पूजा पर हार्दिक शुभकामनाएं !रिद्धि सिद्धि आप पर सदा क्रपालु रहें !

राज भाटिय़ा ने कहा…

महेन्दर जी आपको भी गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनाएँ।

Lavanyam - Antarman ने कहा…

गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनाएँ।