24.5.10

चुटकुले हंसो और हंसाओ ....

एक युवक बड़ा शर्मीला था और वह एक सुन्दर लड़की से विवाह करना चाहता था पर वह अपने दिल की बात शर्मीलेपन के कारण कह नहीं पाता था . डरते डरते एक दिन लड़की के सामने अपने विवाह का प्रस्ताव कुछ इस तरह से व्यक्त किया .
क्या तुम मेरे लडके के हाथों या मेरे हाथो अपनी चिता को आग लगवाना चाहोगी ?
०००००००

परिवार नियोजन का एक अधिकारी आम जनता को जागरुक करने के उद्देश्य से जोर शोर से भाषण दे रहा था . हमारे देश की जनसंख्या दिनोदिन बढ़ती जा रही है हमारें उसे रोकने के लिए कुछ सार्थक पहल करनी होगी . हमारे देश में औ रतें प्रति मिनिट एक बच्चे को जन्म दे रही है .... उसे रोकने के लिए हमें क्या करना पड़ेगा क्या आप बता सकते हैं ?... तभी भीड़ में से एक आवाज आई सबसे पहले हमें उस औरत को खोजना चाहिए .
०००००००

रेल के डिब्बे में एक मोटा आदमी बैठा था इतने में उस डिब्बे में एक पतला आदमी आया और कहने लगा क्या यह डिब्बा हाथिओं के लिए रिजर्व है . मोटा आदमी बोला नहीं भाई यहाँ गधा भी बैठ सकता है .
०००००००

बस इतना राम राम...

7 टिप्‍पणियां:

M VERMA ने कहा…

हाथी और गधा एक साथ
वाह मजेदार

राज भाटिय़ा ने कहा…

बहुत सुंदर सारे के सारे जी

Udan Tashtari ने कहा…

हा हा!! मजेदार!

zeal ने कहा…

@-क्या तुम मेरे लडके के हाथों या मेरे हाथो अपनी चिता को आग लगवाना चाहोगी ..

Males quite often express their love in such an idiotic way.

No wonder !

गिरीश बिल्लोरे ने कहा…

मिश्रा जी मेरे विभाग का मामला था कहो तो खोज लाउं उस औरत को पर पहले बताइये बवाल ने आवाज़ लगाई थी न...?

महफूज़ अली ने कहा…

हा हा!! मजेदार!

Babli ने कहा…

वाह क्या बात है! बहुत ही सुन्दर, शानदार और मज़ेदार लगा!