16.7.09

बरसाती जोग जरा मुस्कुरा लें जनाब

एक आदमी की अर्थी को कुछ लोग एम्बुलेंस में ले जा रहे थे . अर्थी को मोटर चलाकर नहीं ले जाया जा रहा था बल्कि मोटरगाडी को बंद कर धक्का लगाकर धकेल कर ले जा रहे थे . चलते राहगीरों को देख कर बड़ा आश्चर्य हुआ . उन्होंने ने पूछा आखिर आप अर्थी को गाडी में धक्का लगाकर क्यों ले रहे हो ?
अर्थी में शामिल एक जन ने मरने वाले की अंतिम इच्छा के बारे में बताया की मरने वाले की अंतिम इच्छा थी की "हर हाल में पेट्रोल की बचत हो" .
......
ताऊ - यह छाता तुम्हे कहाँ से मिला ?
रामप्यारी - मेरी बहिन ने उपहार में दिया है .
ताऊ - लेकिन तुम कहती थी की तुम्हारी कोई बहिन नहीं है .
रामप्यारी - वह तो ठीक है पर छाते पर लिखा है " बहिन को प्रेम स्वरुप "
.......

एक फ़कीर भीख मांगना छोड़कर पुलिस में भरती हेतु पुलिस हेड क्वाटर गया . उसका सीना नापा गया और उससे दौड़ लगवाई गई वह पूरी तरह से परीक्षा में सफल रहा . मौखिक इंटर व्यू में एक पुलिस अधिकारी ने भिखारी से पूछा - अब यह बताओ की अगर कहीं लोग मंदिर में इकठ्ठे हो जाए तो उन्हें चितर - बितर करने के लिए तुम क्या करोगे ?
भिखारी - मै एकदम मंदिर के सामने चादर लेकर लोगो से चंदा मांगना शुरू कर दूंगा .
........

15 टिप्‍पणियां:

विवेक सिंह ने कहा…

भिखारी वाला तो गज़ब का है जी !

Udan Tashtari ने कहा…

हा हा!! मजेदार-रामप्यारी यहाँ भी.

अविनाश वाचस्पति ने कहा…

महेन्‍द्र भैया चुटकुले छाप रहे हो
लोग नाराज हो जाएंगे
चाहे मन में हंसेंगे

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

बहुत बढिया जी.

रामराम.

डॉ. मनोज मिश्र ने कहा…

बहुत खूब.

mehek ने कहा…

mazedar :)

राज भाटिय़ा ने कहा…

बहुत ही सुंदर, मजा आ गया
धन्यवाद

‘नज़र’ ने कहा…

बहुत ख़ूब जी।
---
आप सादर आमंत्रित हैं:
विज्ञान । HASH OUT SCIENCE

लाल और बवाल (जुगलबन्दी) ने कहा…

हा हा पंडितजी ज़्यादा कुट्टी के साथ मत रहा करिए जी फिर आप जोक मिज़ाज हो जाते हैं और हमारा हँसते हँसते पेट दर्द हो जाता है। भिखारी वाला जोक तो, हा हा ।

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

भाई बबाल जी
कुट्टी मेरा जिगरी सहायक है हिंदी और अन्नी साथ साथ हा हा . दस धंटे साथ गुजारने पड़ते है . दिन भर मनोरंजन के साथ नौकरी करनी पड़ती है . है मजेदार ...हाँ भाई जी कल रघुनाथ की बात भी चल पड़ी और खूब हँसे .

anil ने कहा…

मजेदार बहुत बढ़िया .

vandana ने कहा…

MAZEDAR CHUTKALE HAIN.

नवीन शर्मा ने कहा…

Mahender ji...

titar-bitar suna tha ye chitar-bitar kya hota hai?? shayad police walon ki apni jubaan no?

regards
Naveen :)

ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey ने कहा…

भिखारी वाली तकनीक तो पुलीस विभाग के मैन्युअल में जगह पाने लायक है! :)

दर्पण साह "दर्शन" ने कहा…

मै एकदम मंदिर के सामने चादर लेकर लोगो से चंदा मांगना शुरू कर दूंगा ....

jaaki rahi bhavana jaisi...
..raam moorti tin dekhai taisi !!