24.8.09

चुटकुले गुलगुलों के साथ : चलिए आज फिर हँसने हंसाने की बारी है ?

कल्लू - मम्मी आपने भैय्या को किस भाव खरीदा था ?
मम्मी - अरे भाई उसे खरीदा नहीं था वह तो पैदा हुआ था .
कल्लू - फिर पैदा होने पर आपने उसे क्यों तौला था .


काली औरत आपने पति - क्यों मै हरी साड़ी पहिनकर कैसी लगती हूँ ?
पति - मुझे तो ऐसा लग रहा है जैसे भैस घास चर रही हो .


ताउजी ताईजी से - अरी सुनती हो इस पुस्तक में लिखा है की जिन बच्चो के बाप विद्वान् होते है वे बच्चे मूर्ख होते है और जिन बापों के बच्चे विद्वान् होते है इन बच्चो के बाप मूर्ख होते है .
ताईजी ताउजी से - अगर यह सच है तो एक चिंता तो कम हुई अपना बेटा विद्वान् बनेगा .


एक मिल में हड़ताल हो गई . पत्रकारों ने हड़ताली नेता से पूछा - आपकी प्रमुख मांगे क्या क्या है ?
हड़ताली नेता - बस एक ही बड़ी मांग है की काम के घंटे छोटे होना चाहिए
पत्रकार - ये मांग तो जायज है .
हड़ताली नेता - जी हाँ हम हर हाल में चालीस मिनिट का घंटा करवा के छोडेंगे .


ताऊ महाश्री लेखक - मेरी आगामी रचना में वो सब कुछ समाहित होगा जोकि मैंने अपनी साठ सालो की जिंदगी में सीखा है .
श्रोता ताऊ - ओह तो आप अब लघुकथा लिखने की तैयारी में है .

mm

19 टिप्‍पणियां:

dhiru singh {धीरू सिंह} ने कहा…

ha ha ha pahte wala jyada mazedaar

अविनाश वाचस्पति ने कहा…

हंसना एक योग है और चुटकुले आसन। प्राणायाम हैं हास्‍य कविताएं। आसन यहां करें और प्राणायाम करने पप्‍पू के पास अवश्‍य जाएं।

M VERMA ने कहा…

ध्यान करने किसके पास जाये वाचस्पति जी आपने तो बताया ही नही.
मजेदार चुटकुले

mahashakti ने कहा…

लघु कथा वाला पहली बार पढा था, बाकी भी बहुत मजेदार थे।

हिमांशु । Himanshu ने कहा…

शानदार मजेदार चुटकुले । आभार ।

ashwin ने कहा…

हा हा हा हा बहुत ही बढ़िया हसना ही सबसे कठिन काम है इस युग में.......हा हा हा हा बहुत ही बढ़िया हसना ही सबसे कठिन काम है इस युग में.......

अविनाश वाचस्पति ने कहा…

@ एम वर्मा
ध्‍यान खुद ही करना होगा
भूलने को भूलना ही होगा।

साधना करना चाहें तो
हमारे पास आ जाएं।

Mithilesh dubey ने कहा…

वाह-वाह-वाह क्या बात है। मजेदार

सैयद | Syed ने कहा…

मजेदार...

Udan Tashtari ने कहा…

हा हा!! मजेदार!

Mumukshh Ki Rachanain ने कहा…

हा! हा!! हा!!!..........
इन शानदार चुटकलों ने तो वाकई मज़ा ला दिया.
धन्यवाद.

Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" ने कहा…

हा हा हा ........
वाह जी वाह्! बहुत ही बढिया।।।

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

बहुत मजेदार भैयाजी.

रामराम.

योगेन्द्र मौदगिल ने कहा…

wahwa...maja aa gaya

ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey ने कहा…

हड़ताली नेता - जी हाँ हम हर हाल में चालीस मिनिट का घंटा करवा के छोडेंगे .
----------
एक घण्टे में चालीस मिनट और (तनख्वाह के लिये)एक रुपये में एक हजार पैसे! :)

प्रसन्न वदन चतुर्वेदी ने कहा…

मजेदार चुटकुले, बहुत बहुत बधाई....

आदित्य आफ़ताब "इश्क़" ने कहा…

पेट का साइज़ बड़ा हो गया .........................

दर्पण साह "दर्शन" ने कहा…

मुझे तो ऐसा लग रहा है जैसे भैस घास चर रही हो ....

...haha

jiski biwi kali uska bhi bada naam hai....

:)

दिगम्बर नासवा ने कहा…

Haa......Ha ...Majedaar hain sab ke sab ......