17.11.09

उनसे बेहतर उनकी यादे जो ख्वाबो में आती है

मस्त फिजाओ तुम मुझे उनकी याद न दिलाओ
मेरे इस तड़फते दिल को तुम और न तडफाओ.
***

मेरा सन्देश उन तक...जाते-जाते तुम ले जाना
मै नहीं भूला हूँ उसे तुम ये सन्देश पहुंचा देना.
***

उनसे बेहतर उनकी यादे जो ख्वाबो में आती है
दफ़न हो जाती ये जान यादो के सहारे जिन्दा है.

***

8 टिप्‍पणियां:

डॉ. राजेश नीरव ने कहा…

खूबसूरत अभिव्यक्ति.....

Nirmla Kapila ने कहा…

मेरा सन्देश उन तक...जाते-जाते तुम ले जाना
मै नहीं भूला हूँ उसे तुम ये सन्देश पहुंचा देना
बहुत बडिया बधाई

Mithilesh dubey ने कहा…

बेहद खूबसूरत रचना , । बहुत-बहुत बधाई

M VERMA ने कहा…

मेरा सन्देश उन तक...जाते-जाते तुम ले जाना
मै नहीं भूला हूँ उसे तुम ये सन्देश पहुंचा देना.
सुन्दर और भावपूर्ण
सन्देशो से ही एहसास तो कराना होगा

महफूज़ अली ने कहा…

bahut hi sunder rachna....

Udan Tashtari ने कहा…

मस्त फिजाओ तुम मुझे उनकी याद न दिलाओ
मेरे इस तड़फते दिल को तुम और न तडफाओ.

-क्या बात है मिश्रा जी..मौसम गुलाबी हुआ लगता है. :)

राज भाटिय़ा ने कहा…

जबाब नही महेंदर जीआप की इस सुंदर गजल का.
धन्यवाद

नीरज गोस्वामी ने कहा…

वाह...बहुत खूब...
नीरज