15.2.09

आज १०० पोस्टो के पश्चात १०१ वी पोस्ट माँ नर्मदे को समर्पित

आज निरन्तर ब्लॉग में १०० पोस्ट पूर्ण करने के उपरांत यह मेरी १०१ वी पोस्ट है . आप सभी का स्नेह और प्यार मुझे हमेशा लगातार प्राप्त होता रहा है जिसके कारण मै अपने ब्लॉग समयचक्र (एक हैक हो गया है या उड़ गया है) "प्रहार" और "निरन्तर" ब्लॉग में करीब 1000 के लगभग पोस्ट लिख चुका हूँ. हालाकि ढाई वर्षो के ब्लॉग लेखन के दौरान मेरे अपने ने मुझे हरसंभव हांसिये की ओर धकलेने की कोशिश की है जिसे मैंने सहर्षता के साथ स्वीकार किया है बल्कि आलोचना प्रत्यालोचना से मेरे लिखने का हौसला और बढ़ा है.

परन्तु हमेशा आपके प्यार स्नेह आशीर्वाद और हौसला अफजाई करने की वजह से मै आज ब्लॉग जगत में ब्लॉग लेखन कर रहा हूँ . मै निस्वार्थ भावः से अपनी हिन्दी मातृभाषा के प्रचार प्रसार के उद्देश्य से ब्लॉग लेखन कर रहा हूँ और मुझे बेहद खुशी होती है कि मै अपनी भाषा के लिए एक छोटा सा प्रयास कर रहा हूँ . आप सभी का स्नेह और प्यार निरंतर बना रहे . आज की १०१ वी पोस्ट मै जबलपुर का निवासी होने के नाते माँ नर्मदा को समर्पित कर रहा हूँ.

ॐ नर्मदे हर हर

पाठको की विशेष पसंद चिठ्ठा चर्चा "समयचक्र" में देखें

14 टिप्‍पणियां:

MANVINDER BHIMBER ने कहा…

bahut saari badhaaee

Dr. Vijay Tiwari "Kislay" ने कहा…

महेंद्र भाई
संस्कार धानी के सपूत होने के नाते मेरी
आपको इस उपलब्धि पर अशेष शुभ कामनाएं
- विजय

गिरीश बिल्लोरे "मुकुल" ने कहा…

Shatk ke shubh kamnaen

राज भाटिय़ा ने कहा…

महेन्द्र जी बहुत बहुत शुभकानाऎ,
धन्यवाद

उन्मुक्त ने कहा…

ईश्वर करे कि आप जल्द ही १००१वी चिट्ठी लिखें।

विनय ने कहा…

बधाई!

Arvind Mishra ने कहा…

बधाई !

mamta ने कहा…

बहुत-बहुत बधाई और शुभकामनाएं !

mahashakti ने कहा…

बहुत बहुत बधाई हमारी भी शुभकामनाऍं

Dr. Chandra Kumar Jain ने कहा…

आपको बधाई और
निरंतर सृजन की मंगल कामनाएँ
==========================
डॉ.चन्द्रकुमार जैन

ज्ञानदत्त । GD Pandey ने कहा…

बधाई!
जय नर्मदे माई!

Udan Tashtari ने कहा…

बधाई एवं शुभकामनाऐं.

P.N. Subramanian ने कहा…

बहुत बहुत बधाईयाँ. नर्मदा मैय्या तो चहुँ और है आपके लिए. लेकिन सबसे पवित्र जगह होगी तेवर में.

Udan Tashtari ने कहा…

ॐ नर्मदे हर हर