19.7.09

चुटकुले जो आपको शायद हँसा दें

ताऊ - दुनिया का आकार कैसा है .....?
रामप्यारी चुप रही
ताऊ ने रामप्यारी की स्मृति को उभारने के विचार से खुद ही पूछा "गोल"
रामप्यारी बोल पड़ी ..... नहीं
ताऊ - तो क्या चपटी है ....?
रामप्यारी ने फिर से कहा - नहीं
ताऊ - " न गोल है और न चपटी है तो आखिर ये पृथ्वी कैसी है......?
रामप्यारी ने सरलतापूर्वक कहा - महाताऊ बाबा कहते है की दुनिया टेढ़ी है .

000000

रामप्यारी - मै भी तालाब में कूद कर तैरने लगूँ
रामप्यारी की मम्मी - नहीं तुम डूब जाओगी
रामप्यारी - लेकिन महाताऊ तो तैर रहे है
ताऊ - अरी तू जानती नहीं है इनका बीमा हो चुका है .

000000

14 टिप्‍पणियां:

ताऊजी ने कहा…

वाह जी आनंद आगया.

रामराम.

लाल और बवाल (जुगलबन्दी) ने कहा…

हा हा, पंडितजी आप और ताऊ पर इस ज़माने में लोगों को हँसाने का इल्ज़ाम लग सकता है, सावधान !

mehek ने कहा…

mazedaar:):)

राजीव तनेजा ने कहा…

बढिया

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

बढ़िया है........

हा...हा...हा...।।

Udan Tashtari ने कहा…

ये महाताऊ कौन है भाई?? :)

Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" ने कहा…

बढिया!!!!!!!

vandana ने कहा…

hahahaha.......badhiya

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

महाताऊश्री तो बाबा समीरानंद बन गये हैं आजकल.:)

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

ओह ताऊ जी आज पता चला है की महाताऊश्री तो बाबा समीरानंद बन गये हैं ....

डॉ. मनोज मिश्र ने कहा…

हा-हा-हा-....

Harkirat Haqeer ने कहा…

ताऊ जी के लिए ये गौरव की बात है उनके नाम से चुटकुले भी बनने लगे ....बहुत खूब....!!

ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey ने कहा…

वाह, दुनियां वक्र है और ये चुटकले सहज!

दर्पण साह "दर्शन" ने कहा…

ye duniya ootpatanga....//sahi hi kaha raampyari ne...