13.3.10

जबलपुर ब्लागर्स मीट : जबलपुर के ब्लागर्स इंटरनेट पर हिंदी के विकास हेतु संकल्पित और मीडिया से रूबरू हुए ....

आज दिनाक १३-०३ -२०१० को जबलपुर ब्लागर एसोसियेशन के तत्वाधान में सिटी काफी हाउस जबलपुर में अपरान्ह २ बजे ब्लॉगर मीट आयोजित की गई इस अवसर पर लखनऊ से भाई महफूज अली, भाई गिरीश बिल्लौरे जी, भाई राजेश कुमार दुबे "डूबेजी", भाई बबाल जी, भाई विजय तिवारी " किसलय " , मयूर जी , शैली जी , महेंद्र मिश्र . इंजीनियर संजीव सलिल जी उपस्थित थे . इंटरनेट पर हिंदी के विकास हेतु ब्लागरो द्वारा क्या योगदान दिया जा सकता है इसके बारे में उपस्थित ब्लागरो ने अपने अपने विचार व्यक्त किये और ब्लागिंग की बारीकियो से उपस्थित मीडिया को अवगत कराया .महफूज भाई ने इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा की ब्लागिंग का भविष्य उज्जवल है .



फोटो- ब्लागर राजेश दुबे जी , भाई बबाल जी. महफूज जी, शैली जी....





छतीस गढ़ से भाई ललित शर्मा जी आने वाले थे पर अचानक घरेलू कार्य आ जाने के कारण आज की मीट में उपस्थित नहीं हो सकें इस सम्बन्ध में आज ही उन्होंने मुझे सूचित किया था और भविष्य में जबलपुर आने की इच्छा जताई है . महफूज भाई जो एकाएक लखनऊ से लापता हो गए थे अचानक जबलपुर में प्रगट हुए तो उनसे हम सभी ब्लागर भाइयो को ब्लॉगर मीट में मिलने का अवसर प्राप्त हुआ . बहुत ही हंसमुख और मिलनसार हैं . आज उन्होंने बताया की जबलपुर ननिहाल है और हमेशा जबलपुर उनका आना जाना लगा रहता है . कल पुन उनसे मुलाकात होगी .


फोटो बांये से - ब्लागर भाई राजेश दुबे "डूबेजी". बबाल जी, महफूज जी, गिरीश बिल्लौरे जी, और मै..


ब्लागरो के समक्ष मीडिया ...








ब्लागर भाई गिरीश जी ,विजय तिवारी जी , महफूज जी, बबाल जी और भाई राजेश कुमार डूबेजी...


शैलीजी, सलिलजी, महफूज जी, मैं महेंद्र मिश्र और भाई बबाल जी ... ब्लागर मीट के दौरान लिए गए फोटो...





हिंदी ब्लागिंग और समाज में ब्लागिंग की बढ़ती उपयोगिता, महत्त्व और भूमिका विषय पर मीडिया और पत्रकारों द्वारा पूछे गए प्रश्नों का त्वरित समाधान उपस्थित ब्लागर भाई गिरीश बिल्लौरेजी, भाई बबाल जी, भाई विजय तिवारी जी, संजीव सलिल जी, राजेश कुमार दुबे " डूबेजी" और महेंद्र मिश्र द्वारा मौके पर किया गया .

36 टिप्‍पणियां:

यशवन्त मेहता "फ़कीरा" ने कहा…

bloggars meet par hamari taraf se sabhi upasthit bloggars ko dhero shubhkamnayen aur badhayian

M VERMA ने कहा…

बहुत सुन्दर चित्रो ने तो कह दी सारी दास्तान
बधाई

ललित शर्मा ने कहा…

मिसिर जी,
आप लोगों के बीच मै भी उपस्थित हुँ।
तन से ना सही मन से सही। तन से फ़िर कभी
उपस्थित हो जाएंगे।
ब्लागिंग के इतिहास मे यह एक स्वर्णिम अवसर है।
आप सभी को शुभकामनाएं।
खेद है कि मै इस मिलन से वंचित रह गया।

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi ने कहा…

सुंदर प्रयास! ब्लागर ऐसे ही मिलते रहें।

अविनाश वाचस्पति ने कहा…

सबसे पहले एसोसिएशन के लिए बधाई।
ब्‍लॉगर मिलन के लिए बधाई।
अवश्‍य ही यह खबर सचित्र प्रिंट मीडिया में भी आएगी।
उन खबरों को भी स्‍कैन करके अवश्‍य दिखलाइयेगा।
चित्र देखकर मन प्रसन्‍न हुआ।
चित्र सब कुछ बोल देते हैं। आप लिखकर न खोलें, चित्र कह रहे हैं कि भाई गिरीश जी सदा की तरह देर रात तक पॉडकास्‍ट में मशगूल रहे, इसलिए यहां झपकी लेने का लोभ संवरण नहीं कर सके। कैमरा चौकस था, चूका नहीं।
आदरणीय सलिल जी, महफूज भाई, राजेश जी, विजय जी, शैली जी, डूबे जी, बवाल जी और महेन्‍द्र जी ( जिनका नाम रह गया हो, वे भी) तन मन धन से जुटे दिखलाई दे रहे हैं।
जबलपुर हिन्‍दी ब्‍लॉगिंग का संबल है, बल है। बहुत अच्‍छा लग रहा है। अगली बार हम मिले तो हम भी एक बैनर अवश्‍य बनवायेंगे, अच्‍छा लगता है।

खुशदीप सहगल ने कहा…

महेंद्र जी,
ये तो आपने सिर्फ प्रोमो ही दिखाया...

ज़रा फिल्म में विस्तार से बताइए, मुलाकात हुई, क्या बात हुई...

महफूज़ मियां का ननिहाल जबलपुर में है...कहीं ससुराल भी वहीं बनाने की तैयारी में तो नहीं हैं महफूज़ मुन्ना...

अगर ऐसा हुआ तो देश-विदेश से ब्लॉगरों का जबलपुर आना तय है...फिर तो जबलपुर ब्रिगेड को ही सबकी आव-भगत करनी होगी...

जय हिंद...

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

खुशदीप जी,
भाई मैंने तो मीट के बारे में जता दिया है .. ..बाकी मेहफूज भाई खुद बताएँगे उनकी रूपरेखा क्या है ....

दीपक 'मशाल' ने कहा…

jabardasht reporting rahi.. safal meet ke liye aap badhai ke patra hain..

अनूप शुक्ल ने कहा…

खबर जरा विस्तार से दी जाये भाई!

Mithilesh dubey ने कहा…

सफल आयोजन के लिए बधाई आपको ।

Arvind Mishra ने कहा…

बढियां

VIJAY TIWARI " KISLAY " ने कहा…

बड़े भैया
नमस्कार
मजा आ गया इतनी त्वरित रिपोर्ट पढ़ कर .
सच आपने तो अभी सुर्खियाँ दिखाई हैं.
उम्मीद है जल्दी ही विस्तृत जानकार भी देंगे.
हमें भी आपका सानिध्य पाकर आनंद आ गया .
सबसे अच्छी बात तो ये थी कि मह्फूस भाई ने
ब्लोगिंग को वर्तमान में एक आवश्यकता भी बतलाया
जो इस नयी पद्धति से लाभान्वित होना चाहते हैं.
बाकी सभी ब्लॉगर भाईयों की अभिव्यक्ति ब्लागिंग को नए आयाम दिलाने में
सहायक होगी.
-विजय तिवारी "किसलय"

बवाल ने कहा…

क्या ब्बात है पंडितजी ! परम आश्चर्य। इतने जल्द रिपोर्ट पेश कर दी आपने। बस इसी कमाल की तो चर्चा हुई है इस सम्मेलन में। है कि नहीं ? बहुत मज़ा आ गया जी।

बी एस पाबला ने कहा…

सुंदर चित्र, बढ़िया विवरण

हम चूक गए आने से :-(

Udan Tashtari ने कहा…

बड़ा अच्छा लगा सभी को एकत्रित देखकर...जबलपुर ब्लॉगर्स का अहोभाग्य महफूज़ मियां पधारे. अच्छे चित्र.

Sanjeet Tripathi ने कहा…

bahut badhiya. shubhkamnayein bhai sahab

राज भाटिय़ा ने कहा…

वाह जी बहुत सुंदर विवरण दिया आप ने ओर जो शेष रह गया वो इन सुंदर चित्रो ने व्यान कर दिया, ओर फ़िर इस एसोसिएशन के लिए बधाई। भाई अजय झा जी आप भी बनाये एक "दिल्ली एसोसिएशन" या फ़िर हिन्दी "ब्लांगर इंटर्नेशनल एसोसिएशन"
फ़िर से आप सब को बहुत बहुत बधाई इस शान दार शाम की

गिरीश बिल्लोरे ''पॉडकास्टर'' ने कहा…

महेंद्र भैया सब कुछ आप की मदद से हुआ
सबको बेहद उत्साहित किया आपने
प्रेस तो कितना दिलचस्पी लेता है यहाँ है न

राजू मिश्र ने कहा…

आप सब को बहुत बहुत बधाई.

संजय भास्कर ने कहा…

बहुत सुन्दर चित्रो ने तो कह दी सारी दास्तान
बधाई

संजय भास्कर ने कहा…

jabardasht reporting rahi.. safal meet ke liye aap badhai ke patra hain..

राजीव तनेजा ने कहा…

बढ़िया...चित्रमयी रिपोर्ट के लिए आभार

shikha varshney ने कहा…

badhiya sachitr report...hindi bloging ko shubhkamnaye.

'अदा' ने कहा…

bahut badhiya laga dekh kar...acchi jaankaari..
hindi bloging ko shubhkamnaye...

अजय कुमार झा ने कहा…

वाह महेन्द्र भाई ..सफ़ल आयोजन के लिए बधाई ...रपट का इंतज़ार रहेगा ..और शुक्र है कि महफ़ूज़ भाई की ट्रेन नहीं छूटी ......बधाई
अजय कुमार झा

विनोद कुमार पांडेय ने कहा…

बढ़िया एक और मिशल ब्लॉगजगत के आपसी प्रेम और भाईचारा का...आप सभी को बधाई

काजल कुमार Kajal Kumar ने कहा…

वाह जी बल्ले बल्ले

"अर्श" ने कहा…

aap sabhi ko ek dusare se milnaa kya khoob sukhad anubhuit hai badhaayee ho...


arsh

गिरीश बिल्लोरे ''पॉडकास्टर'' ने कहा…

kajal bhai irfan ji ka bee jikr huaa thaa

वन्दना ने कहा…

bahut achcha laga dekhkar......badhayi.

अविनाश वाचस्पति ने कहा…

@ अजय कुमार झा


महफूज भाई ने इस बार जोखिम नहीं लिया और पैदल ही चल दिए थे इसलिए पहुंच गए।

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

चित्र देखकर लगा कि हमारी संस्कारधानी की परंपरा अनुसार महफ़ूज भाई का शानदार स्वागत और विचार मंथन हुआ. आगे की रिपोर्ट भी प्रसारित की जायें.

रामराम.

Vivek Rastogi ने कहा…

वाह वाह समागम देखकर मजा आ गया। क्या मंथन हुआ वो भी बताया जाये।

Ram Krishna Gautam ने कहा…

Na Pahunch Paane Ke Lie Maafi Chahunga...



"RAM"

चंदन कुमार झा ने कहा…

बढ़िया रिपोर्टिंग !!!

शरद कोकास ने कहा…

इस मीट के लिये बधाई । हमे पता चलता तो हम भी आ जाते ।